aerospace engineering

एयरोस्पेस इंजीनियरिंग ( Aerospace engineering ) me courses, career aur scope

Career

दोस्तों, Aerospace Engineering, इंजीनियरिंग की पढाई की उन शाखाओं में से एक है, जो न केवल वायुयानों बल्कि अंतरिक्षयानो , उपग्रहों और संबंधित प्रौद्योगिकियों से संबंधित रखता है और इसलिए अध्ययन का एक बहुत ही रोचक और महत्वपूर्ण क्षेत्र प्रदान करता है।

अगर आप एयरोस्पेस इंजीनियरिंग की किताबें खोज रहे हैं तो यहाँ क्लिक करे।

Degree in aerospace engineering / एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में डिग्री’

तो आइए हम एयरोस्पेस इंजीनियरिंग ( Aerospace engineering ) me courses के बारे में जानते हैं और जानते हैं aerospace engineering scope के बारे में । उम्मीद करते हैं की आपको जानकारी पसंद आएगी।

जब भी आपने कोई विमान देखा है, तो क्या आपके दिमाग में यह सवाल आया होगा कि यह कैसे उड़ता है? या एक अंतरिक्ष यान कैसे उठाता है?

उस सब का जवाब – एयरोस्पेस इंजीनियरिंग ( Aerospace engineering ) में है।

एयरोस्पेस इंजीनियरिंग ( Aerospace engineering ) क्या है ?

एयरोस्पेस इंजीनियरिंग – रॉकेट, रॉकेट प्रोपल्शन सिस्टम, स्पेस शटल आदि जैसे विमान और संबंधित प्रणालियों के डिजाइन, विकास, परीक्षण और उत्पादन के लिए समर्पित इंजीनियरिंग में अध्यन का एक विषय है।

एयरोस्पेस इंजीनियरिंग की दो शाखाएँ हैं-वैमानिकी इंजीनियरिंग और अंतरिक्ष इंजीनियरिंग (aeronautical engineering and astronautical engineering )।

एयरोस्पेस इंजीनियरिंग के अलावा व्यापक रूप से उपयोग किए जाने वाले कुछ शब्द रॉकेट इंजीनियरिंग, एयरक्राफ्ट इंजीनियरिंग, आदि हैं।

Aerospace Engineer ( एयरोस्पेस इंजीनियर ) किसे कहते हैं ?

जो एयरोस्पेस में विशेषज्ञता रखता है और एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में डिग्री रखता है उसे “एयरोस्पेस इंजीनियर” “Aerospace Engineer” कहा जाता है।

aerospace engineering

आप एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में क्या पढ़ते हैं / Subjects in Aerospace Engineering

एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में पढ़ाये जाने वाले कुछ मुख्या विषय हैं जैसे –

  1. Radar Cross-Section ( राडार क्रॉस सेक्शन )
  2. Fluid Mechanics ( फ्लूइड मैकेनिक्स )
  3. Astro-dynamics ( ास्त्रो डायनामिक्स )
  4. Statics and Dynamics (engineering mechanics) इंजीनियरिंग मैकेनिक्स
  5. Mathematics गणित
  6. Electrotechnology ( इलेक्ट्रो टेक्नोलॉजी )
  7. Control engineering ( कण्ट्रोल इंजीनियरिंग )
  8. Aircraft structures ( एयरक्राफ्ट स्ट्रक्चर )
  9. Materials science ( मटेरियल साइंस )
  10. Solid mechanics ( सॉलिड मैकेनिक्स )
  11. Aeroelasticity ( ऐरो इलास्टिसिटी )
  12. Avionics ( एवियोनिक्स )
  13. Software ९ सॉफ्टवेयर )
  14. Risk and reliability ( रिस्क एंड रिलायबिलिटी )
  15. Noise control ( नॉइज़ कण्ट्रोल )
  16. Aeroacoustics ( ऐरो अकॉस्टिक्स )
  17. Flight test – फ्लाइट टेस्ट
  18. और भी अन्य टॉपिक्स
aerospace engineering

Aerospace Engineers क्या करते हैं ?

So what an aerospace engineer does ? एयरोस्पेस इंजीनियरिंग क्या करते हैं ?

एयरोस्पेस इंजीनियरिंग एक मजेदार फील्ड है और नीचे हम कुछ उदहारण दे रहे हैं जो Aerospace Engineers करते हैं

  • एक एयरोस्पेस इंजीनियर ग्राहक-अनुरूप नागरिक और सैन्य विमानों, मिसाइलों, उपग्रहों और अंतरिक्ष वाहनों के प्रदर्शन का प्रबंधन और प्रबंधन करता है। (An aerospace engineer designs, manages and measures the performance of customer-compliant civil and military aircraft , missiles, satellites, and space vehicles. )
  • डिजाइन, विकास और परीक्षण की प्रक्रियाओं के दौरान आने वाली समस्याओं को समझना और उनका हल खोजना । (Settling problems that arise during the processes of design, development and testing.)
  • कुछ नए फीचर्स को शामिल करने और सुरक्षा सुविधाओं को बढ़ाने के लिए डिजाइन को संशोधित करना। (Modifying design to incorporate some new functions and enhance safety features.)
  • प्रोटोटाइप ग्राउंड- और उड़ान-परीक्षण प्रणाली को चलना और उनकी समीक्षा करना । Running prototype ground- and flight-testing systems.
  • एयरोस्पेस वाहन व्यवहार्यता, उत्पादकता, लागत और उत्पादन समय (feasibility, productivity, cost, and production time) का अनुमान लगाना ।
  • रिसर्च पेपर लिखना Write professional papers, and review them.
    पेशेवर कागजात लिखें, और उनकी समीक्षा करें।
  • इत्यादि। ….

कोर्सेज इन Aerospace Engineering

एयरोस्पेस की फील्ड में आप डिप्लोमा , ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन और पीएचडी कर सकते हैं।

Graduation Course ( १२ वीं के बाद ):

यह पाठ्यक्रम १२ वीं के बाद कर सकते हैं और उन बच्चों के लिए है जो PCM से १२th किया है । एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में B.E या B.Tech होता है । यह कोर्स आपको एक एयरोस्पेस इंजीनियर के रूप में तैयार करता है। इस कोर्स के बाद आप जॉब कर सकते हैं या आगे भी पढ़ सकते हैं।

Post Graduation Course :

यह कोर्स मास्टर लेवल का प्रोग्राम है। इसमें आपको ME , MTECH या MS की डिग्री मिलती हैं . यहाँ आप किसी एक एरिया में specialization हासिल करते हैं जैसे की – Chopper engineering, Aircraft engineering, Cargo engineering, etc.

Diploma Course (डिप्लोमा कोर्सेज ):

इस फील्ड में डिप्लोमा कोर्सेज ३ महीने से लेके ३ साल तक के होते हैं। ये आपको किसी एक फील्ड में डिटेल इनफार्मेशन देते हैं। ये बहुत की प्रैक्टिकल लेवल के कोर्सेज हैं सो आपको एक सम्पूर्ण जानकारी हर एरिया की न देकर एक खास एरिया की जानकारी दी जाती है।

PhD Course ( पीएचडी ):

ये बहुत की ख़ास हो जाता है। आप किसी एक एरिया जो एयरोस्पेस से सम्बन्ध रखता है उसपे रिसर्च करते हैं और कुछ नया खोजते हैं


अगर आप एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में GATE का एग्जाम देने का सोच रहें हैं तो आपको यह किताब पसंद आएगी।


Specializations offered in Aerospace Courses

कुछ specializations जो एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में आप हासिल कर सकते है जैसे –

1) Aeronautics 2) Aerodynamic s 3) Propulsion
 4) Micro Aerial Vehicles (MAVs) 5) Navigation 6) Small Satellites
7) Space and Atmospheric Flight Optimal Control 8) Space Cryogenic Fluids Thermal Management 9) Space Environment Modeling
9) Space Environment Modeling 10) Space Mission Design and Planning 11) Spacecraft and Vehicle Design

एक एयरोस्पेस इंजीनियर के रूप में आप कुछ खास विषयों पे पढाई करते हैंजैसे –

Elements of Aeronautics, Aero-Fluid Mechanics, Mechanics of Solids, Aircraft Component Drawing, Aerodynamic, Machines and Mechanisms, Aircraft Systems and Instruments, Air-breathing Propulsion, Aerodynamics Laboratory, Flight Dynamics

और भी बहुत कुछ।

Aerospace engineering कैसे करें ? | Aerospace engineering में एडमिशन कैसे होता है

आप नीचे लिखे एंट्रेंस एग्जाम दे सकते है . ये परीक्षाये आपको कुछ अच्छे कॉलेज में एडमिशन के लिए है।

  • JEE Main,
  • BITSAT,
  • VITEEE,
  • KIITEE,
  • MU-OET,
  • AUCET,
  • AEEE

ये जो लिस्ट ऊपर है वो हमने अपने एक्सपीरियंस से दी है। और भी कई कॉलेजेस हैं जिनका अपना एग्जाम होता है। आपको उन सबको खोजना पड़ेगा और अप्लाई करना पड़ेगा

भारत में aerospace engineering के कुछ टॉप कॉलेज

  • IIT (Bombay, Kanpur, Kharagpur),
  • IISST (Trivandrum),
  • BITS,
  • Feroze Gandhi Institute of Engineering and Technology.

IIT के अलावा Aerospace Engineering में और कौन से अच्छे कॉलेज हैं

और भी कई प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज है जो इस फील्ड में डिग्री देतें हैं। हम कुछ कॉलेज रेकमेंड कर रहे हैं।

  • Manipal University, Manipal
  • Hindustan College of Engineering , chennai
  • Amrita Vishwa Vidyapeetham, coimbatore
  • UPES dehradun

क्या aerospace engineering कठिन है ?

यह निश्चित रूप से अधिक चुनौतीपूर्ण डिग्री में से एक है।

इसका कारण है कम सुरक्षा मार्जिन, शून्य एरर मार्जिन की आवश्यकता और गणित पर भारी निर्भरता।

आपका maths और analytical स्किल्स काफी इस्तेमाल में आता है।

Aerospace engineers का करियर स्कोप क्या है ?

इस विशेष फील्ड का दायरा अधिक है। एविएशन क्षेत्र एक अच्छे दर से बढ़ रहा है। अंतरिक्ष क्षेत्र बढ़ रहा है और साथ ही रक्षा क्षेत्र भी। एरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में BTECH / MTECH / PHD के बाद, आप ISRO , DRDO ,HAL , NAL ,MRO , आदि के साथ काम कर सकते हैं और एरोनॉटिकल इंजीनियर के लिए सैलरी भी बहुत अच्छा है

Aerospace engineer कितना कमा लेते हैं ?

औसतन, भारत में एक एयरोस्पेस इंजीनियर प्रति वर्ष 8 से 10 लाख कमा लेते है, अमेरिका में, वह लगभग 100,000 डॉलर तक कमा लेते हैं ।


दोस्तों उम्मीद करते हैं की आपको ये जानकारी पसंद आयी होगी। अगर आपका कोई सुझाव है तो हमें जरूर लिख भेजें।

Subscribe kijiye aise aur information ke liye:


आपको यह भी पसंद आएगा। – फिजिकल एजुकेशन में पढाई


 1,266 total views,  5 views today

Lata

Hello Friends, Thank you for stopping by at a2zHindiInfo.com। आपकी तरह मुझे भी current affairs और General Knowledge बहुत पसंद है और आज के ज़माने में अपने आस पास जो हो रहा है उससे अपने आप को अपडेटेड रखना भी बहुत जरूरी है । मैंने जो भी ज्ञान हासिल किया है उसे मै सबके साथ शेयर करना चाहती हूं और मेरा ये ब्लॉग उसी दिशा में एक कदम है। अगर आपका कोई सुझाव है इस वेबसाइट को लेके या कोई शिकायत है तो हमें जरूर लिक भेजें। हमारा ईमेल हैं contact@a2zhindiinfo.com

1 thought on “एयरोस्पेस इंजीनियरिंग ( Aerospace engineering ) me courses, career aur scope

  1. Bahut saare Auronotical engineering colleges bhi hain pa wo BTECH Auronatical me dete hain ..
    Pahle yahi hua karta tha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *