Hadimba temple history in hindi

Hadimba temple history in hindi – जानें हडिम्बा मंदिर का इतिहास

Dharm Sansar Travel

Hadimba temple history in hindi | हडिम्बा मंदिर का इतिहास | hadimba mandir | hadimba mata | hidimba devi mandir

दोस्तों आज मैं आपको hidimba devi mandir लेके चलूंगी और इस अदभुत मंदिर के इतिहास के बारे में बताऊँगी। उम्मीद करती हूँ की आपको यह जानकारी पसंद आएगी।

हिडिम्बा देवी मंदिर ( hidimba devi mandir ) हिमाचल प्रदेश में एक प्रसिद्ध हिंदू मंदिर में से एक है, जो भीम (पांडवों में से एक भाई ) की पत्नी, हिडिम्बा को समर्पित है। चलिए आज हम हडिम्बा मंदिर का इतिहास जानेंगे – Hadimba temple history in hindi.

यहाँ पर हडिम्बा देवी भी कहा जाता है। वैसे महाभारत काव्य में हम इन्हे हिडिम्बा देवी के नाम से जानते हैं।



Hadimba temple history in hindi | हडिम्बा मंदिर का इतिहास

आज जो मंदिर हम देखते हैं , उसका निर्माण महाराजा बहादुर सिंह ने सन 1553 में करवाया था।

प्राचीन काल से, hidimba mandir एक गुफा मंदिर रहा है और हिडिंबी को समर्पित था, जो हिडिम्ब की बहन थी। कहा जाता है कि यहां हिडिंबी ने तपस्या की थी।

Hadimba temple history in hindi - जानें हडिम्बा मंदिर का इतिहास

इमेज का सोर्स

hidimba devi का जन्म एक राक्षस परिवार में हुआ था, लेकिन हिडिम्बा ने उससे शादी करने की कसम खाई थी जो उसके भाई हिडिम्ब (जिसे हिडिम्बा भी कहा जाता है) को हरा देगा।

हिडिंब को बहुत बहादुर और निडर माना जाता था।

और इसलिए आप कह सकते हैं कि हिडिम्बा मंदिर हमारे महान महाकाव्य महाभारत से जुड़ा हुआ है।

हिडिम्बा मंदिर देवी हडिंबा को समर्पित है !

पौराणिक भारतीय महाकाव्य महाभारत के अनुसार, पांडव अपने निर्वासन के दौरान हिमाचल प्रदेश में रहे थे।

हिडिंब और भीम के बीच एक लड़ाई के दौरान, भीम ने हिडिंब को हराया और उसका वध किया।

वीर और इसलिए हिडिम्ब की बहन हिडिंबी का पांडव पुत्र भीम से विवाह हुआ और उनका एक बेटा घटोत्कच उनका बेटा था ।

जब भीम और उनके भाई निर्वासन से लौटे, तो हिडिम्बी उनके साथ नहीं गयी , वो वहीँ रह कर तपस्या करने लगीं और अंततः उन्हें देवी का दर्जा प्राप्त हुआ।

सो दोस्तों यह था हडिम्बा देवी मंदिर का इतिहास , Hadimba temple history in hindi ।

Hidimba Devi mandir ka nirmaan | हडिम्बा देवी मंदिर का निर्माण

Hidimba Devi mandir ka nirmaan पगोडा ( Pagoda ) शैली में किया गया है। मंदिर लकड़ी की नक्काशी का बेहतरीन उदाहरण प्रदर्शित करता है।

हर साल मई में हडिम्बा देवी मंदिर में मेला लगता है। दशहरे के दौरान, एक और मेला आयोजित किया जाता है। हिडिम्बा देवी का मंदिर एक गुफा के आसपास केंद्रित है जहाँ हिडिम्बा देवी ने तपस्या की थी।

हिडिंबी देवी मंदिर में, जटिल नक्काशीदार लकड़ी के दरवाजे और 24 मीटर लंबा लकड़ी का “शिखर” है।

लकड़ी की टाइलों से ढकी तीन वर्गाकार छतें और शिखर पर पीतल के शंकु के आकार की चौथी छत एक टॉवर सी बनाती है।

मुख्य द्वार की नक्काशी देवी माँ दुर्गा को कई रूपों में दर्शाती है।

इस मंदिर को यहाँ ढुंगरी मंदिर के नाम से जाना जाता है।

देवी हिडिम्बा के पुत्र घटोत्कच को समर्पित भी एक मंदिर, जो हिडिम्बा मंदिर से लगभग 70 मीटर की दूरी पर स्थित है।

मंदिर के अंदर पत्थर के एक खंड पर खुदी हुई देवी के पैरों की छाप की पूजा की जाती है। कहते हैं की या देवी हिडिम्बा के पैरों के निशान है।

सो दोस्तों हडिम्बा मंदिर का इतिहास ( Hadimba temple history in hindi ) और ये रोचक तथ्य मंदिर को काफी महत्वपूर्ण बनाते हैं और मुझे उम्मीद है की अगर आप मनाली की यात्रा पे हैं तो आप इस मंदिर को देखने जरूर जाएंगे।

Hadimba mandir timings | हडिम्बा देवी मंदिर के खुलने का समय

नीचे हिडिम्बा देवी मंदिर के खुलने का समय दिया है। मंदिर हर दिन खुला रहता है और आप माँ हिडिम्बा देवी के दर्शन कर सकते हैं।

8 AM to 6 PM – मंदिर हर दिन खुला रहता है.

hidimba devi mandir kaise pahunche | हडिम्बा देवी मंदिर कैसे पहुंचे

हिडिंबा देवी मंदिर मनाली में स्थित है और मुख्य माल रोड से सिर्फ 100 मीटर की दूरी पर है और आप कह सकते हैं कि यह मनाली शहर से लगभग 2 किमी दूर है।


माता की ये मूर्तिया काफी पसंद आएंगे आपको – यहाँ क्लिक करें


मनाली टाउन बस स्टैंड से आप आसानी से टैक्सी या सार्वजनिक परिवहन प्राप्त कर सकते हैं।

निकटतम रेलवे स्टेशन जोगिंदर नगर रेलवे स्टेशन है और यदि आप ट्रेन से आ रहे हैं, तो आपको जोगिंदर नगर रेलवे स्टेशन पर उतरना होगा।

रेलवे स्टेशन से भी, मंदिर लगभग 2 किमी दूर है और इसलिए आप वहां से ऑटो, टैक्सी या सार्वजनिक परिवहन ले सकते हैं।


सो दोस्तों उम्मीद करती हूं की आपको हमारी यह जानकारी – Hadimba temple history in hindi – जानें हडिम्बा मंदिर का इतिहास – पसंद आइये होगी। अगर आप मनाली की यात्रा पे हैं तो यहाँ जरूर जाएँ !

आपको काफी अच्छा लगेगा !


ऐसी और सुन्दर जानकारी – ट्रेवल और टूरिज्म से सम्बंधित आपके लिए – यहाँ क्लिक करे


आपको हमारा धर्म संसार सेक्शन भी पसंद आएगा – क्लिक करें

 292 total views,  2 views today

Lata

Hello Friends, Thank you for stopping by at a2zHindiInfo.com। आपकी तरह मुझे भी current affairs और General Knowledge बहुत पसंद है और आज के ज़माने में अपने आस पास जो हो रहा है उससे अपने आप को अपडेटेड रखना भी बहुत जरूरी है । मैंने जो भी ज्ञान हासिल किया है उसे मै सबके साथ शेयर करना चाहती हूं और मेरा ये ब्लॉग उसी दिशा में एक कदम है। अगर आपका कोई सुझाव है इस वेबसाइट को लेके या कोई शिकायत है तो हमें जरूर लिक भेजें। हमारा ईमेल हैं contact@a2zhindiinfo.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *