nail fungus treatment

Nail Fungus – Fungal nail infection Treatment – पैर की उँगलियों के नाखूनों का उपचार

Health and Beauty Tips

नेल फंगस (Nail Fungus ) एक आम समस्या है। आज हिम Toe Fungal nail infection Treatment के बारे में समझेंगे।

यह एक इन्फेक्शन जो की एक आम स्किन इन्फेक्शन है और हालांकि ये इन्फेक्शन जायदा गंभीर नहीं होते लेकिन तकलीफ देह होते है।

जैसे की ये Nail Fungus , जलन खुजली बेचैनी पैदा कर सकते हैं।

वैसे तो कुछ फंगस तो शरीर में सवभविक रूप से पाए जाते है। जैसे दाद एक तरह का स्किन फंगल इन्फेक्शन (Skin fungal infection ) पर यह थोड़ा ज्यादा संक्रामक होते है आमतौर पे मार्किट में काफी सारी antimicrobial क्रीम available है जिससे इसका इलाज पूरी तरह से संभव है।

कभी कभी ये finger fungal infection हमारे घरेलू पालतू जानवर जैसे बिल्ली और कुत्तों की वजह से भी फैलते है।

नेल फंगस (Nail Fungus ) के मुख्या लक्षण क्या है ?

आइये Nail Fungus को समझते हैं। इस दाद के मुख्य लक्षण है, एक अँगूठी के आकार का दाने ,जो थोड़ा उभरे हुए किनारो के साथ होते है। इन गोलाकार चकत्तों पर कभी सफ़ेद कलर की पपड़ी जम जाती है जो खुजली का कारण बनती है ये दाने फैल सकते हैं कभी ये गहरे पीले रंग के भी होते है जो पॉव के नाखून के नीचें पस की तरह दिखते है

यह पास बदबूदार होती है जिसे इसके बढ़ने का अंदाजा मिलता है अगर ऐसा होता है तो जल्दी ही किसी डॉक्टर की परामर्श ले क्योंकि शुरुआती समय में कुछ आसान उपायों से इसका इलाज संभव है। जोकि आप घर बैठे हुए भी कर सकते हैं।

आईये इन्ही कुछ उपायों के बारे में जानते है

हाइड्रोजन पेरोक्साइड ( Hydrogen Paraoxide ) क्या है

Fungal nail infection Treatment में हाइड्रोजन पेरोक्साइड का क्या काम ?

हाइड्रोजन पेरोक्साइड हाइड्रोजन पेरोक्साइड (formula H2O2) एक रसायन (Chemical ) है जो हाइड्रोजन और पानी का एक mixture है।

इसका उपयोग ऑक्सीडाइज़र (Oxidiser ), ब्लीचिंग एजेंट (Bleeching agent )और एंटीसेप्टिक (antiseptic )के रूप में किया जाता है।

क्या हाइड्रोजन पेरोक्साइड (Hydrogen Paraoxide) से Fungal nail infection Treatment हो सकता है ?

Fungal nail infection Treatment में हाइड्रोजन पेरोक्साइड (Hydrogen Paraoxide) काम आता है !

हाइड्रोजन पेरोक्साइड (Hydrogen Paraoxide) से शुरुआती दाद पूरी तरह से खत्म हो सकता है .

आईये इसकी विधि जानते हैं। नाख़ून के फंगस को साफ़ करने की इस तरीके को हम ऑक्सीडेटिव थेरेपी के रूप में भी जानते है जिसमे पाव के नाखून को इस मिश्रण में भिगो के रखना पड़ता है जिस से प्रभावित नाख़ून का फंगस धीरे धीरे मरने लगते है


ध्यान रखें की 3% कंसंट्रेशन वाले हाइड्रोजन पेरोक्साइड और पानी का एक समान मात्रा तैयार करे और लगभग ३० मिनट तक उस मिश्रण में पाव दाल कर बैठे रहे। इसे रोज करना है और लगभग एक महीने तक करना है।

और जब आप शुरू करेंगे तो आपको कुछ दिनों में फरक दिखाई देने लगेगा।

ध्यान रखें कि हाइड्रोजन पेरोक्साइड (Hydrogen Paraoxide) का उपयोग 3% होना चाहिए, नहीं ततो आपके नाखूनों पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है।

कुछ बातें ध्यान रखने योग्य –

  • नाखूनों के ऑक्सीडेटिव थेरेपी करने से पहले, उन्हें अच्छी तरह से सुखा लें।
  • बाहर जाते समय उन्हें ढक कर रखें
  • याद रखें कि इस उपचार से काम करने में समय लगता है
  • हाइड्रोजन पेरोक्साइड से त्वचा में हल्की जलन हो सकती है। यदि आपके पास संवेदनशील त्वचा है, तो आप थोड़ी परेशानी का अनुभव कर सकते हैं। कुछ मामलों में, अगर हाइड्रोजन पेरोक्साइड (Hydrogen Paraoxide) अधिक मात्रा का उपयोग किया है तो प्रभावित क्षेत्र में त्वचा थोड़ी देर के लिए थोड़ी सफेद हो सकती है।
  • इसलिए, इस उपाय को करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करना उचित रहेगा

Fungal nail infection को स्थायी रूप से ठीक करने के लिए कुछ अन्य प्राकृतिक तरीके

चाय के पेड़ का तेल है

कहा जाता है की इससे काफी मदद मिलती है , इसमें जीवाणुरोधी, एंटीवायरल और एंटिफंगल गुण हैं, जिसका उपयोग नाखून के इन्फेक्शन के इलाज के लिए भी किया जा सकता है।

काली चाय

काली चाय (बिना दूध वाली) में पैर भिगोना इस बीमारी के इलाज में भी फायदेमंद हो सकता है।

सेब का सिरका, बेकिंग सोडा, सेंधा नमक

इनके इस्तेमाल से भी फायदा हो सकता है। आप घर पर इसे भी तरय कर सकते है।

इसके अलावा अगर कुछ होमियोपैथी मेडिसिन भी जिससे काम समय में और बहुत ही आसानी से इस इन्फेक्शन से मुक्ति पायी जा सकती

terbinafine (Lamisil) and itraconazole (Sporanox) ये दवाएं भी इन्फेक्शन में हेल्प करती हैं और एक नए नाखून को बढ़ने में मदद करती हैं, धीरे-धीरे जिस हिस्से में समस्या है उस हिस्से को बदल देती हैं। आप आमतौर पर इस तरह की दवा छह से 12 सप्ताह तक ले सकते हैं और दाद के इलाज के लिए ये बढ़िया एंटिफंगल क्रीम है

क्या नियोस्पोरिन लगाना ठीक रहेगा ? नियोस्पोरिन एक एंटीबायोटिक मरहम है जिसका उपयोग मामूली त्वचा की चोटों के इलाज के लिए किया जाता है। नियोस्पोरिन का इस बीमारी में कितना फायदा होता है ये सही ढंग से पता नहीं है , लेकिन यह माना जाता है कि नियोस्पोरिन प्रारंभिक अवस्था में संक्रमण को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है।

इस इन्फेक्शनके समय कुछ बातो के धयान रकना जरजरुरी है

  • antimicrobial साबुन से अपने हाथों और नाखूनों को अच्छी तरह से साफ करें।
  • अपने सोने वाले बिस्तर के चद्दर को नियमित साफ़ करें
  • ऐसे मोज़े पहने जो पसीने को अच्छे ढंग से सौख लेता हो
  • अगर किसी को ये इन्फेक्शन पहले से है तो उस व्यक्ति के साथ कपड़े, तौलिया, या चादरें साझा न करें। ध्यान रखिये की ये इन्फेक्शन फैलता है एक दुसरे से। सो अगर किसी को इन्फेक्शन है तो उनसे दूर रहे। यह बहुत ही जरूरी है
  • डॉक्टर की सलाह जरूर लें। घरेलू उपचार करने से पहले भी डॉक्टर के सलाह लेना उचित है ।


यहां तक ​​कि अगर आप घरेलू उपचार पसंद करते हैं, तो भी आपको समय-समय पर अपने चिकित्सक से मिलना चाहिए।

दोस्तों नेल फंगस (Nail Fungus ) कोई बहुत बड़ी समस्या नहीं है और सही समय पे उसको पकड़ के इलाज कर लेने से जल्दी ही ठीक हो जाता है।

उम्मीद करते हैं की Fungal nail infection Treatment पे मेरा ये आर्टिकल आपको पसंद आया होगा !


Home made Face Packs – घर पर कैसे बनाएं फेस पैक

 1,020 total views,  2 views today

Lata

Hello Friends, Thank you for stopping by at a2zHindiInfo.com। आपकी तरह मुझे भी current affairs और General Knowledge बहुत पसंद है और आज के ज़माने में अपने आस पास जो हो रहा है उससे अपने आप को अपडेटेड रखना भी बहुत जरूरी है । मैंने जो भी ज्ञान हासिल किया है उसे मै सबके साथ शेयर करना चाहती हूं और मेरा ये ब्लॉग उसी दिशा में एक कदम है। अगर आपका कोई सुझाव है इस वेबसाइट को लेके या कोई शिकायत है तो हमें जरूर लिक भेजें। हमारा ईमेल हैं contact@a2zhindiinfo.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *