National Sports Day

National Sports Day 2021 | राष्ट्रीय खेल दिवस 2021

Important Dates Nibandh

National Sports Day 2021 | राष्ट्रीय खेल दिवस 2021 – हॉकी के सबसे बड़े खिलाडी मेजर ध्यानचंद की जयंती के उपलक्ष्य में 29 अगस्त (गुरुवार) को पूरे देश में राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है।

सो आइये दोस्तों आज हम National Sports Day यानि Rashtriya Khel Diwas और हॉकी के जादूगर , हॉकी की दुनिया के सबसे बेहतरीन खिलाडी मेजर ध्यानचंद के बारे में आपको बताते हैं।

इस लेख में, हम हॉकी के जादूगर ध्यानचंद के बारे में बात करेंगे, इसके अलावा हम 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस मनाने के पीछे का कारण जानेंगे।

जैसा हमने पहले कहा , यह दिन 29 अगस्त को भारतीय हॉकी के दिग्गज मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन के उपलक्ष्य में मनाया जाता है।

उनका जन्म 29 अगस्त 1905 को प्रयागराज में हुआ था। मेजर ध्यानचंद 1936 में बर्लिन ओलंपिक में स्वर्ण पदक विजेता भारतीय हॉकी टीम के कप्तान थे।

फिट और स्वस्थ रहने की आवश्यकता पर बल देते हुए, यह दिन प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में खेल और दैनिक गतिविधियों के महत्व पर जागरूकता फैलाने के लिए मनाया जाता है।

इस दिन, भारत के राष्ट्रपति , प्रमुख खेल हस्तियों को – खेल रत्न, अर्जुन पुरस्कार, द्रोणाचार्य पुरस्कार और ध्यानचंद पुरस्कार आदि से सम्मानित करते हैं।

मनुष्य के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए खेलों को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। कोई भी खेल खेलने वाला व्यक्ति हमेशा स्वस्थ रहता है।

भारत में कई खेल महारथी हैं जैसे – उड़ानपरी के नाम से मशहूर पीटी उषा, मास्टर ब्लास्टर के नाम से मशहूर सचिन तेंदुलकर और हॉकी के जादूगरों के नाम से मशहूर मेजर ध्यानचंद.

भारत के महानतम हॉकी खिलाड़ी ‘मेजर ध्यानचंद सिंह’, जिन्हें दुनिया भर में ‘हॉकी के जादूगर’ के नाम से जाना जाता है, का जन्म 29 अगस्त 1905 को प्रयागराज शहर में हुआ था।

बुनियादी शिक्षा प्राप्त करने के बाद, ध्यानचंद 1922 में भारतीय सेना में एक सैनिक के रूप में शामिल हुए।

मेजर ध्यानचंद सिंह एक सच्चे खिलाड़ी थे। मेजर ध्यानचंद को हॉकी खेलने के लिए सूबेदार मेजर तिवारी ने प्रेरित किया, जो स्वयं एक खेल प्रेमी थे।

ध्यानचंद ने उन्हीं की देखरेख में हॉकी खेलना शुरू किया।

अपने खेल में उत्कृष्ट प्रदर्शन के कारण, मेजर ध्यानचंद को 1927 में ‘लांस नायक’ के रूप में सेना में नियुक्ति मिली , और फिर 1932 में नायक और 1936 में सूबेदार के रूप में पदोन्नत किया गया।

उस समय वे भारतीय हॉकी टीम के कप्तान थे। बाद में उन्हें लेफ्टिनेंट की पदोनत्ति मिली और फिर कप्तान और अंततः वो मेजर के पद पे कार्यरत हुए ।

मेजर ध्यानचंद का हॉकी में उत्कृष्ट प्रदर्शन – ‘हॉकी के जादूगर’

मेजर ध्यानचंद हॉकी के इतने महान खिलाड़ी थे कि अगर गेंद एक बार उनकी स्टिक में फंस जाती थी तो गोल करने के बाद ही हटती थी।

यही कारण था कि एक बार मैच के दौरान उनकी छड़ी को यह जांचने के लिए तोड़ दिया गया था कि छड़ी के अंदर कोई चुंबक या कुछ और तो नहीं है ।

मेजर ध्यानचंद, तीन बार के ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता भारतीय हॉकी टीम का हिस्सा थे।

1936 के बर्लिन ओलंपिक खेलों में, ध्यानचंद को भारतीय हॉकी टीम का कप्तान चुना गया था।

मेजर ध्यानचंद ने 1926 से 1948 तक अपने करियर में 400 से अधिक अंतरराष्ट्रीय गोल किए , जबकि अपने पूरे करियर में लगभग 1,000 गोल किए थे जो अपने आप में एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।

तो ऐसे महान खिलाड़ी को सच्ची श्रद्धांजलि देने के लिए, भारत सरकार ने 2012 से उनके जन्मदिन को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया है।

इस मान्यता से पहले मेजर ध्यानचंद को 1956 में भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है, जो हमारे देश का तीसरा सबसे बड़ा नागरिक पुरस्कार है।

राष्ट्रीय खेल दिवस समारोह National Sports Day celebrations

National Sports Day – राष्ट्रीय खेल दिवस भी राष्ट्रीय स्तर पर बड़े पैमाने पर मनाया जाता है।

हर साल राष्ट्रपति भवन में समारोह आयोजित किया जाता है।

और इस दिन उन महान खिलाडियों को राष्ट्रीय खेल पुरस्कार प्रदान किया जाता है जिन्होंने पूरी दुनिया में तिरंगे झंडे का गौरव बढ़ाया है।

राष्ट्रीय खेल पुरस्कार के तहत खिलाड़ियों और पूर्व खिलाड़ियों को राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार, अर्जुन पुरस्कार और द्रोणाचार्य पुरस्कार जैसे कई अन्य पुरस्कारों से सम्मानित किया जाता है। इन सभी सम्मानों के साथ इस दिन “ध्यानचंद पुरस्कार” भी दिया जाता है।

1979 में मेजर ध्यानचंद की मृत्यु के बाद भारतीय डाक विभाग ने मेजर ध्यानचंद को श्रद्धांजलि देते हुए , उनके सम्मान में एक डाक टिकट जारी किया था ।

और उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए सरकार ने दिल्ली के नेशनल स्टेडियम का नाम बदलकर मेजर ध्यानचंद स्टेडियम, दिल्ली कर दिया गया।

अन्य देशों में National Sports Day | Rashtriya Khel Diwas

ईरान

ईरान में, 17 अक्टूबर को शारीरिक शिक्षा और खेल दिवस के रूप में जाना जाता है, और 17 से 23 अक्टूबर तक सप्ताह को शारीरिक शिक्षा और खेल सप्ताह कहा जाता है।

मुख्य लक्ष्य लोगों के व्यक्तिगत और सामाजिक जीवन में व्यायाम की तरफ प्रेरित करना है।

जापान

जापान का स्वास्थ्य और खेल दिवस अक्टूबर में मनाया जाने वाला एक राष्ट्रीय अवकाश है।

यह पहली बार 10 अक्टूबर 1966 को टोक्यो में आयोजित 1964 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक के उद्घाटन की दूसरी वर्षगांठ पर आयोजित किया गया था।

2000 के बाद से यह अक्टूबर के दूसरे सोमवार को आयोजित किया गया है।

मलेशिया

राष्ट्रीय खेल दिवस (मलय में : हरि सुकन नेगारा) मलेशिया में एक राष्ट्रीय अवकाश है, जो अक्टूबर में दूसरे शनिवार को प्रतिवर्ष आयोजित किया जाता है, इसकी आबादी के बीच एक स्वस्थ जीवन शैली को बढ़ावा देने के मुख्य उद्देश्य के साथ। पहला राष्ट्रीय खेल दिवस 2015 में आयोजित किया गया था।

कतर

राष्ट्रीय खेल दिवस कतर में एक राष्ट्रीय अवकाश है, जो हर साल फरवरी में दूसरे मंगलवार को आयोजित किया जाता है, जिसका मुख्य उद्देश्य इसकी आबादी के बीच एक स्वस्थ जीवन शैली को बढ़ावा देना है। पहला राष्ट्रीय खेल दिवस 2012 में आयोजित किया गया था।

तो दोस्तों ये थी हर साल 29 अगस्त को मेजर ध्यानचंद और राष्ट्रीय खेल दिवस के जश्न की पूरी जानकारी।

खेल जीवन का अभिन्न अंग है। आइये हम सब मेजर ध्यानचंद और खेल दिवस से प्रेरणा लें और खेल में अपना और देश का गौरव बढ़ाएं।


क्या आप फिजिकल एजुकेशन ( PE ) की पढाई करने की इच्छा रखते हैं ? तो आपको या पोस्ट काफी पसंद आएगा। – Physical Education me career फिजिकल एजुकेशन (P .E ) – पढाई और कैरियर

 283 total views,  4 views today

Lata

Hello Friends, Thank you for stopping by at a2zHindiInfo.com। आपकी तरह मुझे भी current affairs और General Knowledge बहुत पसंद है और आज के ज़माने में अपने आस पास जो हो रहा है उससे अपने आप को अपडेटेड रखना भी बहुत जरूरी है । मैंने जो भी ज्ञान हासिल किया है उसे मै सबके साथ शेयर करना चाहती हूं और मेरा ये ब्लॉग उसी दिशा में एक कदम है। अगर आपका कोई सुझाव है इस वेबसाइट को लेके या कोई शिकायत है तो हमें जरूर लिक भेजें। हमारा ईमेल हैं contact@a2zhindiinfo.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *